Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2016

इश्क़ में धोखे .......

इश्क़ में धोखे .....



इश्क़ के आग से जले तो पता चला
की लोग मीठे तो होते पर झूठे भी ।।

जबखून के बदले खून
और रिश्ते के बदले रिश्ते बनाये जाते है 
तब क्यों इस दुनिया में 
प्यार के बदले धोखे खाये जाते है ।


मैंने जो तुझसेप्यार किया 
लगा की खंजरदिल के पार किया 
इसदिल को मिले चोट इतने 
तुमने क्यों इसे तारतार किया

कोईदस्तूर सा जैसे 
निकला हो बेवफा बन जाने को
जो भी मिला यारो 
बैठा गलतियाँ गिनाने को 
मेरी छोटी सी गलती 
उनके आँख की किरकिरी बनगई
उन्हें क्या पता की ना जाने कब वो
मेरी ख़ुशी , मेरी जिंदगी बनगई

आपका दोस्त - सुमित सोनी

मेरी कायनात हो

मेरी कायनात हो "

जैसे की तुम मेरी
            सारी कायनात हो
हर पल मेरे लबो पे
             तेरी ही बात हो
तू ही दिखे मुझको
              दिन हो या रात हो
चाहूँगा मैं यही की
              हर पल तेरा साथ हो
लगता है जैसे तुम
              मेरे रब की सौगात हो

क्योंकि तुम ही तो मेरी
               सारी कायनात हो

आपका दोस्त - सुमित सोनी